Shivaay “वही शून्य है वही इकाय, जिसके भीतर बसा शिवाय” by Ajay Devgn- Shivaay Dialogues

The trailer of Ajay Devgn’s much awaited film Shivaay is finally out and we must say, it’s damn interesting.

The trailer begins with a close up of Ajay’s handcuffed fists and zooms into his brooding eyes and it captures your attention right then. Throughout the next 3 min 35 seconds you will be glued to it, trying to gather some hint as to what will be the plot of the film but in vain. Ajay has taken utmost care that the plot of the film doesn’t get revealed in the trailer at all.

Shivaay “वही शून्य है वही इकाय, जिसके भीतर बसा शिवाय” poem by Ajay Devgn

ना आदि ना अंत है उसका, वो सबका ना इनका उनका, वही शून्य है वही इकाय, जिसके भीतर बसा शिवाय ||

आँख मुद देख रहा है, साथ समय के खेल रहा है, महादेव माहि का खेल, जिसके लिए जगत झांकी, वही शून्ये है वही इकाय, जिसके भीतर बसा शिवाय ||

राम भी उसका रावण भी उसका, जीवन भी उसका मरण भी उसका, तांडव है और धयान भी वो है, अज्ञानी का ज्ञान भी वो है, इसको काटा लगे न कंकर, काढ़ मैं रुद्र घरों मैं शंकर, अंत यही है सारे भूत का, इस भोले का वार भयंकर. वही शून्ये है वही इकाय, जिसके भीतर बसा शिवाय ||

Updated: Aug 8, 2016 — 3:03 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

etc Bollywood- Box Office Update | Entertainment © 2016 Frontier Theme